Friday, 23 ,February 2024
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

नरेन्द्र कुमार का निधन | ग्राम सभा मे पेसा एक्ट की दी जानकारी | वाहन एवं लाखों की अवैध शराब के साथ एक आरोपी गिरफ्तार | बिशप के प्रथम आगमन पर भव्य स्वागत | खरीफ में पैदा होने वाली फसले अब रबी में भी | दुकान नीलामी को लेकर दर्ज करवाई गई आपत्ति, हाईकोर्ट के आदेश की अनदेखी का आरोप | कांग्रेसी नेता ने करंट से पीड़ित परिजनों को दी सहायता राशि | मेनिंगोकोकल वैक्सीन की हुई शुरुआत, बच्चों को दी वैक्सीन की खुराक | निःशुल्क मच्छरदानी का किया वितरण | राज्यपाल की उपस्थिति में आयोजित हुआ स्वास्थ्य शिविर | 12वीं बोर्ड परीक्षा में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले 7 हजार 800 विद्यार्थियों को मिली स्कूटी | सिकलीगर परिवारों के लिए स्वरोजगार प्रशिक्षण | खाद्य पदार्थों में मिलावट की रोकथाम के लिए मुख्य सचिव ने ली बैठक | अमानक स्तर का घी तैयार करने वाली फर्म के संचालक के विरुद्ध एफआईआर दर्ज | विद्या से धारित मां सरस्वती देवी ही समस्त सद्गुणों की स्त्रोत- प्राचार्य शरद क्षीरसागर | शांतिलाल श्रीमाल के निधन के बाद परिवार वालों ने नेत्रदान का लिया साहसी निर्णय | भारत भ्रमण पर निकले युवा का किया स्वागत | संदिग्ध परिस्थितियों में मिले शव के बाद हत्या की आशंका को लेकर ग्रामीण थाने पर पहुँचे | तीस वर्षिय युवक की लाश कूप में मिलने से क्षैत्र में फैली सनसनी | 2013 से लेकर 2018 तक विधायक रहे शांतिलाल बिलवाल का निधन |

एग्जिट पोल आज, असल नतीजे रविवार को
30, Nov 2023 2 months ago

image

बालाघाट में कलेक्टर की त्रुटि, अधिनस्त अधिकारी सस्पेंट , कांग्रेस ने बनाया मुद्दा।

माही की गूंज, झाबुआ

    मतदान समाप्ति के बाद रिजल्ट के लिए मतदाताओं को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। आज आखिरी चरण के मतदान तेलंगाना विधानसभा के बाद एग्जिट पोल के परिणाम शाम 6 बजे से प्रारंभ हो जाएंगे। लेकिन उसके बीच दोनों ही दलों के द्वारा अपनी-अपनी जीत के दावे किए जा रहे हैं। इन्ही दावों के बीच बालाघाट के जिला निर्वाचन अधिकारी के द्वारा हुई चूक को कांग्रेस के लिए बड़ा मुद्दा मिल गया है।

    कांग्रेस ने डाकमतों में धांधली का आरोप लगा दिया है। इस मामले में चूक हुई अधिकारियों पर निलंबन की गाज भी गिरी है। लेकिन फिर भी परिणामो में अगर कांग्रेस विजय रहती है तो यह मामला ठंडे बस्ते में जा सकता है। वहीं कांग्रेस के लिए विपरीत परिणाम आने पर कांग्रेस इसे बड़ा मुद्दा बना सकती है और इसी मुद्दे पर ईवीएम में भी छेड़खानी का आरोप लगाकर इसे राष्ट्रीय मुद्दा भी बना सकती हैं। चुनाव जैसे संवेदनशील मामले में जिला अधिकारियों द्वारा की गई त्रुटि निश्चित रूप से असभ्य है और ऐसे मामले में चुनाव आयोग को ठोस कार्यवाही करना चाहिए ताकि भविष्य में इस प्रकार की पुनरावृत्ति न हो।

कलसिंह की कलाकारी या वीरसिंह की वीरता

    लगभग एक माह पहले तक थांदला विधानसभा कांग्रेस के लिए सबसे सुरक्षित सीट मानी जा रही थी। यही नहीं टिकट वितरण के बाद कांग्रेस में कोई असंतोष नहीं था। जबकि भाजपा में दो सांसद प्रतिनिधियों ने भाजपा के प्रत्याशी कलसिंह भाभर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। लेकिन भाजपा प्रत्याशी कलसिंह भाभर ने क्षेत्र में लगातार जनसंपर्क कर न केवल असंतुष्ट को साधने का काम किया, वरन अपने आप को मुकाबले में लाकर भी खड़ा कर दिया। अंतिम तीन दिन के प्रचार के बाद जो राजनीतिक विश्लेषक एक तरफा मुकाबले की बात कर रहे थे सबने अपने सुर बदल दिए और मुकाबला बराबर का बताने लगे। अब हालात यह बन रहे हैं कि, थांदला विधानसभा में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ी टक्कर है और मुकाबला कोई भी जीत सकता है।

राजनीति में आपसी संबंध खराब न करें...

    चुनाव तो आते जाते रहेंगे और वैचारिक लड़ाई को चुनाव तक ही सीमित रखना चाहिए। चुनाव के बाद थांदला के एक धार्मिक कार्यक्रम में कांग्रेस प्रत्याशी वीरसिंह भूरिया और भाजपा प्रत्याशी कलसिंह भाभर की एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कमेंट में कुछ इस तरह की प्रक्रिया सामने आई है और सही भी है। चुनाव तो 5 साल में एक बार आते हैं लेकिन पड़ोसियों और गांव के नागरिकों के संबंध तो आजीवन रहते हैं। राजनीति में वैचारिक मतभेद को मनभेद न मानते हुए चुनावी हार-जीत को स्वीकार करें और व्यक्तिगत संबंध बनाए रखें।

थांदला विधानसभा से कांग्रेस-भाजपा के प्रत्याशी कलसिंह भाभर व वीरसिंह भाभर।


माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |