Wednesday, 28 ,September 2022
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

आज रात होगी मतदाताओ रिझाने की अंतिम कोशिश, वार्डो के चुनाव में कोई नही पहुँच पा रहा अंतिम परिणाम तक | थाना प्रभारी सजंय रावत को मुख्यमंत्री की सभा की व्यवस्था संभालना पड़ा भारी | अंतिम दिन बड़ी संख्या में भागवत कथा श्रवण करने पहुँचे भक्त | शांति समिति की बैठक सम्पन्न | सहायक सचिव के पिता की जहर पीने से हुई मौत | चुनावी दौरे पर आए सीएम से पंचाल समाज ने लगाई गुहार | सीएम चौहान ने भाजपा पार्षद उम्मीदवारों के लिए चुनावी सभा को किया संबोधित | जिले में पहुंचे सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जन सेवा अभियान में हिस्सा लेने के बाद जिला मुख्यालय में की चुनावी सभा | चुनाव प्रचार के अंतिम दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री जनसेवा शिविर में नहीं जाकर जनता से मांगेंगे माफी या अलीराजपुर की चुनावी सभा को करेंगे स्थगित...? | कैलाश विजयवर्गीय ने भाजपा के पक्ष में किया रोड़ शो | एमडीएच स्कूल में पूरे सत्र बच्चों को नही मिल रहे कॉमर्स के शिक्षक, बच्चो की शिक्षा हो रही प्रभावित | हॉइ वॉल्टेज मुकाबला वार्ड नम्बर एक मे माहौल बदलने उतरी भाजपा | अध्यक्ष पद के लिए महत्वपूर्ण वार्ड क्र. 1, तीन पार्टी के उम्मीदवार तो एक निर्दलीय मैदान में | जिस भगवान ने हमें बेहिसाब दिया उसी को हम माला की गिनती से भजते हैं- पंडित शिव गुरु शर्मा | करप्शन पर चीन की सख्ती: पूर्व न्याय मंत्री को मौत की सजा | नगर में चाहुमुँखी विकास एवं स्वच्छता के साथ नपा को आदर्ष बनाने का वादा | 24 सितम्बर को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान अलीराजपुर व बुराहनपुर जिले में चुनावी सभाओं को करेंगे सम्बोधित | मां बच्चे की पहली गुरु होती है वह जैसा सिखाती है वैसा वह सीखता है- पंडित शिव गुरु शर्मा | कथा सुनने से धन नहीं आनंद मिलता है- पंडित शिवगुरु जी | कौन असली, कौन नकली...? |

जिले में विकास कार्य में रूचि नहीं ले रहा शासन प्रशासन...?
24, Feb 2022 7 months ago

image

मूलभूत सुविधाओं पर नहीं दिया जा रहा ध्यान, आदिवासी जनता के हितो की अनदेखी करना बंद करे सरकार- विधायक पटेल

माही की गूंज, अलीराजपुर।

        आदिवासी बाहुल्य अलीराजपुर जिले में लंबे समय से शासन प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, रोजगार और सडक सहित अन्य जनहितषी कार्यो पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। आदिवासी जनता के हितों की अनदेखी की जा रही है। उक्त बात अलीराजपुर विधायक मुकेश पटेल ने बुधवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में कही।

स्वास्थ्य सुविधाएं बदहाल

        विधायक पटेल ने बताया, अलीराजपुर जिले के गांवो, कस्बों और नगरीय क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं बदहाल है। स्वीकृत पदों के मुकाबले डॉक्टर्स और अन्य स्टॉफ की कमी लंबे समय से बनी हुई है। ट्रामा सेंटर का शुभारंभ हुई करीब पांच वर्ष हो चुके है परंतु ट्रामा सेंटर में विशेषज्ञ डाक्टर्स की नियुक्ति अब तक नहीं की गई है। अस्पताल में पर्याप्त विशेषज्ञों व उपकरणों के अभाव में मरीजों को महंगे दामों पर प्रदेश के अन्य शहरों या गुजरात के शहरों में उपचार करवाना मजबूरी बना हुआ है।

शिक्षा के मामले में कोई सार्थक प्रयास नहीं

        विधायक पटेल ने कहा कि, शिक्षा के मामले में भी जिला प्रशासन द्वारा अब तक कोई सार्थक प्रयास नहीं किया गया है। गांवों के स्कूलों में विषय विशेषज्ञों की कमी बनी हुई है और कई स्कूलों में शिक्षकों की पदस्थापना भी पर्याप्त संख्या में नहीं की गई है। जिसके कारण आदिवासी जिले के बच्चों का भविष्य अधर में लटका हुआ है। बच्चों और उनके अभिभावकों को उनके हाल पर छोड दिया गया है।

चिलचिलाती धूप में पानी के लिए संघर्ष करते है लोग

        विधायक पटेल ने कहा, कि जिले के विभिन्न ग्रामों में ग्रीष्मकाल में पेयजल संकट की बेहद गंभीर स्थिति निर्मित हो जाती है। कई गांवों में लोग दूर-दूर से पानी लाने के लिए मजबूर होते है। कई लोग नदी, नालों कुंओ से जैसे तैसे पानी लेकर अपनी प्यास और दैनिक दिनचर्या के उपयोग के लिए पानी के लिए संघर्ष करते हुए जीवन जीने को मजबूर होते है। परंतु पीएचई विभाग के अधिकारी इस और लापरवाह और उदासीन रूख अपनाते है।

रोजगार के अभाव में पलायन बन गया मजबूरी

        विधायक पटेल ने कहा कि, जिले में रोजगार का नितांत अभाव है। लोगों के लिए रोजगार के साधन के रूप में न तो जिले में उद्योग विकसित हो पाए और न ही विकास कार्य के रूप में निर्माण कार्य पर्याप्त संख्या में चलाए जा रहे है। जिसके कारण आदिवासी ग्रामीणों को बडी संख्या में मजदूरी के लिए गुजरात की और देखना पडता है। जिले के लोग रोजगार के नाम पर मायूस ही नजर आते है। भाजपा के पिछले 17 साल के शासन में रोजगार के लिए कोई कार्य नहीं किया गया।

सडक और बिजली सुविधा खस्ताहाल

        विधायक पटेल ने कहा कि, जिले के विभिन्न गांवों में आज भी आवागमन के लिए सडक नहीं है। दूरदराज के गांवों और पहाडी क्षेत्रों में लोगों को कच्ची पगडंडियों से आवागमन करना पडता है। बिजली की सुविधा से कई गांव आज भी वंचित है। किसानों को सिंचाई के दौरान पर्याप्त बिजली नहीं दी जाती है और अघोषित बिजली कटौती और अपर्याप्त वॉल्टेज के कारण किसानों को संघर्ष करना पडता है।

शासकीय योजनाओं में जारी है मनमानी, नहीं मिलता अधिकांश लोगों को लाभ

        विधायक पटेल ने कहा कि, सरकार और प्रशासन द्वारा जिले में शासन की जनकल्याणरी योजनाओं का ढिंढोरा पीटा जाता है। परंतु वास्तविकता में कई योजनाओं का लाभ अधिकांश लोगों को नहीं मिल पाता है। खाद्य विभाग, उद्योग विभाग, राजस्व विभाग, कृषि विभाग, उद्यानिकी विभाग, पशु चिकित्सा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, श्रम विभाग, सहकारिता विभाग, जनजातीय कार्य विभाग सहित अन्य विभाग की विभिन्न योजनाओं का लाभ देने में मनमानी की जाती है, अधिकांश लोगों को योजना का लाभ नहीं मिलता है। जिसके कारण भी क्षेत्र से पलायन होता है।

आंदोलन की रणनीति बनाकर सरकार को जगाएंगे

          विधायक पटेल ने कहा कि, जिले के विभिन्न ज्वलंत मुद्दों को लेकर प्रभारी कांग्रेस जिलाध्यक्ष ओम राठौर, वरिष्ठ कांग्रेस नेता महेश पटेल, कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों, कार्यकताओं और आम जनता के साथ मिलकर प्रभावी और चरणबद्ध आंदोलन की रणनीति बनाएंगे और सरकार को जगाएंगे कि यदि आदिवासी जनता के हितों की अनदेखी की गई तो जनता सडक पर उतरकर चरणबद्ध आंदोलन के लिए मजबूर होगी।   


माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |