Wednesday, 28 ,September 2022
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

आज रात होगी मतदाताओ रिझाने की अंतिम कोशिश, वार्डो के चुनाव में कोई नही पहुँच पा रहा अंतिम परिणाम तक | थाना प्रभारी सजंय रावत को मुख्यमंत्री की सभा की व्यवस्था संभालना पड़ा भारी | अंतिम दिन बड़ी संख्या में भागवत कथा श्रवण करने पहुँचे भक्त | शांति समिति की बैठक सम्पन्न | सहायक सचिव के पिता की जहर पीने से हुई मौत | चुनावी दौरे पर आए सीएम से पंचाल समाज ने लगाई गुहार | सीएम चौहान ने भाजपा पार्षद उम्मीदवारों के लिए चुनावी सभा को किया संबोधित | जिले में पहुंचे सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जन सेवा अभियान में हिस्सा लेने के बाद जिला मुख्यालय में की चुनावी सभा | चुनाव प्रचार के अंतिम दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री जनसेवा शिविर में नहीं जाकर जनता से मांगेंगे माफी या अलीराजपुर की चुनावी सभा को करेंगे स्थगित...? | कैलाश विजयवर्गीय ने भाजपा के पक्ष में किया रोड़ शो | एमडीएच स्कूल में पूरे सत्र बच्चों को नही मिल रहे कॉमर्स के शिक्षक, बच्चो की शिक्षा हो रही प्रभावित | हॉइ वॉल्टेज मुकाबला वार्ड नम्बर एक मे माहौल बदलने उतरी भाजपा | अध्यक्ष पद के लिए महत्वपूर्ण वार्ड क्र. 1, तीन पार्टी के उम्मीदवार तो एक निर्दलीय मैदान में | जिस भगवान ने हमें बेहिसाब दिया उसी को हम माला की गिनती से भजते हैं- पंडित शिव गुरु शर्मा | करप्शन पर चीन की सख्ती: पूर्व न्याय मंत्री को मौत की सजा | नगर में चाहुमुँखी विकास एवं स्वच्छता के साथ नपा को आदर्ष बनाने का वादा | 24 सितम्बर को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान अलीराजपुर व बुराहनपुर जिले में चुनावी सभाओं को करेंगे सम्बोधित | मां बच्चे की पहली गुरु होती है वह जैसा सिखाती है वैसा वह सीखता है- पंडित शिव गुरु शर्मा | कथा सुनने से धन नहीं आनंद मिलता है- पंडित शिवगुरु जी | कौन असली, कौन नकली...? |

एनआरसी केन्द्र में उपचार और कॉउंसलिंग सुधरी मासूम संतोष जिंदगी
01, Mar 2021 1 year ago

image

माही की गूंज, बड़वानी

    कौन सी माॅ होगी जो अपने 15 माह के पुत्र के मुस्कुराने और खेलने पर खुश नही होगी। यही दशा ग्राम रोसर की श्रीमती पार्वती बाई और उनके पति सकरिया की है। जो अब अपने डेढ़ वर्षीय पुत्र के मुस्कुराने पर अत्यंत प्रसन्न है।  

    5 माह पूर्व श्रीमती पार्वतीबाई अपने पुत्र मास्टर संतोष की दशा और गुमसुम रहने पर चिंतित रहती थी। उसे जब आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने बताया कि, उसके पुत्र की यह दशा इसलिए है, क्योकि उसका वजन उसकी आयु अनुसार कम है। जिसके लिए उसे 14 दिनों के लिए एनआरसी केन्द्र में भर्ती कर उपचार करवाना अत्यंत जरूरी हैं । इसके लिए उन्हे अपने पुत्र को लेकर पाटी के एनआरसी केन्द्र में भर्ती होना होगा, जहां उसे प्रतिदिन मजदूरी की न्यूनतम राशि मिलेगी वही उसके पुत्र का ईलाज के साथ-साथ खाना-पिनारहना सभी निःशुल्क रहेगा। 

    इस पर श्रीमती पार्वतीबाई अपने पुत्र को लेकर एनआरसी केन्द्र पाटी में भर्ती हुई उस वक्त उनके पुत्र को वजन 4 किलो 900 ग्राम था। केन्द्र में 14 दिन तक सतत् माता की काउंसलिंग और पुत्र के उपचार से जब उसकी स्थिति सुधरी तो माता को अपने पुत्र के साथ घर पर जाने और इसी प्रकार के प्रयास जारी रखने की हिदायत के साथ रवाना किया गया। 

    घर पहुंचने पर श्रीमती पार्वतीबाई अपने पति सकरिया के साथ मजदूरी करने के दौरान भी अपने पुत्र को समय-समय पर भोजन कराने के प्रति सजग रही। जिसका परिणाम यह रहा कि आज मास्टर संतोष का वजन 6 किलों से उपर पहुंच गया है। जिसके कारण अब वह सामान्य बच्चों के समान प्रतिक्रिया करने ओर देने लगा है। जिससे उसके पालक की खुशी भी अब देखते बनती है।


माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |