Tuesday, 23 ,April 2024
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव पर निकाली शोभा यात्रा | भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव पर चतुर्विद संघ ने प्रभातफेरी निकाल कर दिया सत्य अहिंसा का संदेश | एक कदम स्वच्छता अभियान की तहत सैफुद्दीन भाई का ऐलान | सम्मान समारोह का हुआ आयोजन, बच्चों ने बढ़-चढ़कर लिया प्रतियोगिता में भाग | बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ तथा फिजुल खर्ची रोकने के उद्देश्य को लेकर सेन समाज के सामुहिक विवाह सम्मेलन का हुआ आयोजन | कलेक्टर की बड़ी कार्यवाही, जिले के 15 निजी स्कूलों पर 2-2 लाख रु. का जुर्माना अधिरोपित | बमनाला में दिलाई गई मतदान करने की शपथ | थांदला माटी के संत 108 श्रीपुण्यसागरजी महाराज 19 वर्षों बाद करेंगें थांदला में मंगल प्रवेश, संघजनों में अपार उत्साह | ईद-उल-फितर की नमाज में उठे सैकड़ों हाथ, देश में अमन चैन, एकता व खुशहाली की मांगी दुआएं | ईदगाह से नमाज अदा कर मनाया ईद उल फितर का त्योहार, दिनभर चला दावतों का दौर | आबकारी विभाग द्वारा अवैध मदिरा के विक्रय के विरुद्ध निरंतर कार्यवाही जारी | श्री सिद्धेश्वर रामायण मंडल ने किया गांव का नाम रोशन | नागरिक सहकारी बैंक झाबुआ के भ्रत्य को अर्पित की श्रद्धांजलि | चुनरी यात्रा का जगह-जगह हुआ स्वागत | रक्तदान कैंप का हुआ आयोजन | रुपए लेने वाले दो व्यक्तियों का मंदिर में प्रवेश प्रतिबंधित, पुलिस कॉन्स्टेबल निलंबित | बस में मिली 1 करोड़ 28 लाख रुपए की नगदी एवं 22 किलो 365 ग्राम चांदी की सिल्ली | मानवता फिर हुई शर्मसार | आई गणगौर सखी देवा झालरिया आस्था का पर्व | दोहरे हत्याकाण्ड का में फरार सभी 14 आरोपियो की संपत्ति कुर्की हेतु की जाएगी कार्यवाही |

एनआरसी केन्द्र में उपचार और कॉउंसलिंग सुधरी मासूम संतोष जिंदगी
01, Mar 2021 3 years ago

image

माही की गूंज, बड़वानी

    कौन सी माॅ होगी जो अपने 15 माह के पुत्र के मुस्कुराने और खेलने पर खुश नही होगी। यही दशा ग्राम रोसर की श्रीमती पार्वती बाई और उनके पति सकरिया की है। जो अब अपने डेढ़ वर्षीय पुत्र के मुस्कुराने पर अत्यंत प्रसन्न है।  

    5 माह पूर्व श्रीमती पार्वतीबाई अपने पुत्र मास्टर संतोष की दशा और गुमसुम रहने पर चिंतित रहती थी। उसे जब आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने बताया कि, उसके पुत्र की यह दशा इसलिए है, क्योकि उसका वजन उसकी आयु अनुसार कम है। जिसके लिए उसे 14 दिनों के लिए एनआरसी केन्द्र में भर्ती कर उपचार करवाना अत्यंत जरूरी हैं । इसके लिए उन्हे अपने पुत्र को लेकर पाटी के एनआरसी केन्द्र में भर्ती होना होगा, जहां उसे प्रतिदिन मजदूरी की न्यूनतम राशि मिलेगी वही उसके पुत्र का ईलाज के साथ-साथ खाना-पिनारहना सभी निःशुल्क रहेगा। 

    इस पर श्रीमती पार्वतीबाई अपने पुत्र को लेकर एनआरसी केन्द्र पाटी में भर्ती हुई उस वक्त उनके पुत्र को वजन 4 किलो 900 ग्राम था। केन्द्र में 14 दिन तक सतत् माता की काउंसलिंग और पुत्र के उपचार से जब उसकी स्थिति सुधरी तो माता को अपने पुत्र के साथ घर पर जाने और इसी प्रकार के प्रयास जारी रखने की हिदायत के साथ रवाना किया गया। 

    घर पहुंचने पर श्रीमती पार्वतीबाई अपने पति सकरिया के साथ मजदूरी करने के दौरान भी अपने पुत्र को समय-समय पर भोजन कराने के प्रति सजग रही। जिसका परिणाम यह रहा कि आज मास्टर संतोष का वजन 6 किलों से उपर पहुंच गया है। जिसके कारण अब वह सामान्य बच्चों के समान प्रतिक्रिया करने ओर देने लगा है। जिससे उसके पालक की खुशी भी अब देखते बनती है।


माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |