Wednesday, 22 ,May 2024
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

जिन शासन का मनाया 2580वां स्थापना दिवस | ग्रामीण अंचलों में बनी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क पर बेखोफ दौड़ रहे ओवरलोड डम्फर, जिम्मेदार नहीं कर रहे कोई कार्रवाई | वरिष्ठ नागरिक पेंशनर्स एसोसिएशन की बैठक का हुआ आयोजन | सांसद की माताजी का निधन, भाजपा में शोक की लहर | श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन भजनों पर थिरके भक्त, बही भागवत गंगा | लोकसभा चुनाव जोबट विधानसभा क्षेत्र के ग्राम आम्बुआ में शांति पूर्वक संपन्न | चौथे चरण का मतदान सम्पन्न, सैलाना विधानसभा में सबसे ज्यादा मतदान | ग्रीष्मकालीन जैन आवासीय धार्मिक संस्कार शिविर का आयोजन 14 से 19 को पेटलावद में | गुरुदेव की निश्रा में 300 वर्षीतप आराधकों ने किए पारणें | सरपंच पति के साथ 6 आरोपीयो के विरुद्ध 4 व्यक्तियों की हत्या करने का मामला हुआ दर्ज | कांग्रेस का हूं कांग्रेस का रहूंगा कहने वाले सरपंच साहब भाजपा की भेंट चढ़े, उपसरपंच ने भी थामा भाजपा का दामन | पुलिस ने शांतिपूर्ण मतदान के लिए निकाला फ्लैग मार्च | पुलिस ने निकाला फ्लेग मार्च | 13 मई को संपन्न होने जा रहे चुनाव में शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था हेतु सेना का फ्लैग मार्च | एक बार फिर विक्रांत भूरिया ने प्रेसवार्ता कर उधेड़ी प्रदेश वनमंत्री नागरसिंह व भाजपा लोकसभा प्रत्याशी अनिता चौहान की बखिया | निष्पक्ष रूप से चुनाव करवाने का दावा करने वाली प्रशासन ध्यान दें शराब दुकान पर होने वाली भीड़ पर | पहला चुनाव बनाम अंतिम चुनाव, सहानुभूति लहर या महिला सशक्तिकरण...? | देश में राजनीतिक दलों की स्थिति मतलब हमाम में सब नंगे | गुजरात मॉडल की घोषणा टाय-टाय फिस्स | राजू के असल हत्यारे आखिर कौन...? पुलिस पूरे मामले का करेगी खुलासा या फिर अधर में रखेगी मामला... |

स्पेशल डीजी श्री ने पुलिस व अन्य विभागों के अधिकारियों की ली बैठक
19, Feb 2021 3 years ago

image

माही की गूंज, अलीराजपुर
     म.प्र. पुलिस विभाग में स्पेशल डीजी राजेन्द्र कुमार मिश्रा ने अलीराजपुर पुलिस कंट्रोल रूम में राजस्व, पुलिस, बैंकर्स, सहकारिता, न्याय विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारीगण की बैठक ली। बैठक में पुलिस अधीक्षक विजय भागवानी, अपर कलेक्टर सुरेश चन्द्र वर्मा, एएसपी बिट्टू सहगल, एसडीएम अलीराजपुर श्रीमती लक्ष्मी गामड, एसडीओपी पुलिस, समस्त थाना प्रभारी, डीपीओ न्याय विभाग, लीड बैंक मैनेजर सहित अन्य बैंकर्स तथा अन्य विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे। 
     बैठक में स्पेशल डीजी श्री मिश्रा ने चिंट फंड कंपनियों और अन्य वित्तीय संस्थाओं के माध्यम से किए जाने वाले आर्थिक अपराधों पर अंकुश और आमजन को इससे बचाव हेतु किए जाने वाले प्रयासों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कानूनी प्रावधानों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने चिटफंड कंपनी के माध्यम से आमजन की मेहनत की कमाई हडपने वालों की बेनामी संपत्ति को सीज करने और कानूनी प्रावधानों के माध्यम से अपराधी को सजा और निवेशकर्ता को उसका रूपया प्राप्त कराए जाने वाले कानूनी प्रावधान तथा जांच संबंधित प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी। साथ ही उन्होंने निर्देश दिए कि आमजन से फ्रॉड करके बेनामी संपत्ति एकत्र करने वालों पर भी पेनी नजर रखी जाकर कानूनी प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाए। बैठक में उन्होंने चैंक बाउंस, आर्थिक अपराधों सहित अन्य अपराधों की थानावार समीक्षा करते हुए उक्त प्रकरणों के निराकरण हेतु सूक्ष्मता के साथ परीक्षण संबंधित आवश्यक दिा निर्देश दिए। उक्त प्रकरणों के फरार अपराधियों के विरूद्ध की जाने वाली कार्रवाई संबंधित कानूनी प्रावधान संबंधित आवयक निर्देश भी दिए। इस अवसर पर उन्होंने बैंकर्स और सहकारिता विभाग के अधिकारियों से आह्वान किया कि, किसी भी आर्थिक अपराध प्रकरण के दौरान बैंकर्स अथवा संबंधित संस्था उक्त संबंधित प्रकरण में आंतरिक जांच अनिवार्य रूप से करते हुए दस्तावेज भी तैयार करें ताकि पुलिस को संबंधित प्रकरण में ठोस साक्ष्य प्राप्त हो सके जो प्रकरण संबंधित अपना पक्ष रखने में मजबूती के साथ काम आ सकें। स्पेशल डीजी श्री मिश्रा ने निर्देश दिए कि, वित्तीय एवं अन्य संस्थाओं द्वारा नियमानुसार कार्य हो यह सुनिचित कराया जाए। उन्होंने बताया पुलिसिंग को साक्त और बेहतर बनाए जाने के उद्देय से उक्त प्रक्रिया का पालन अनिवार्य है। उन्होंने उक्त कार्य की मॉनिटरिंग हेतु पुलिस बीट अधिकारी, थाना प्रभारी, एसडीओपी और जिला स्तरीय अधिकारियों को आवयक निर्देश दिए। बैठक में उन्होंने जिले में एनजीओ, सहकारी समितियों, वित्तीय संस्थाओं, बैंक आदि के संबंध में जानकारी ली। उक्त संबंध में निर्देश दिए कि संबंधित थाना प्रभारी के पास उनके क्षेत्र में संचालित होने वाली आर्थिक, सामाजिक संस्थाओं की गतिविधियों संबंधित जानकारी होना चाहिए ताकि आमजन के साथ किसी तरह की छल अथवा धोखाधडी को समय रहते रोका जा सकें। उन्होंने सभी से आह्वान किया कि उक्त प्रक्रियाओं को अपनाकर आर्थिक अपराधों पर अंकुश लगाया जा सकता है। इस अवसर पर उन्होंने साइबर क्रांइम की जानकारी देते इसे रोकने और आमजन को जागरूक करने के लिए विष प्रयास किये जाने की बात पर बल दिया। उन्होंने साइबर अपराधों की रोकथाम हेतु फाइनेंयल साइबर क्राइम के प्रति आमजन को जागरूक करने की बात पर बल दिया। उन्होंने जिले में फॉरेन्सीक आडिट यूनिट प्रारंभ करने के निर्देश भी दिए। साथ ही सामान्य अपराधों के साथ-साथ आर्थिक अपराधों की इन्वेस्टीगेशन को बेहतर बनाए जाने की बात पर बल देने की बात कही, ताकि अपराधियों को समय रहते पकडा जा सकें। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री भागवानी ने जिले में अपराधों और अपराध निराकरण हेतु किये गए प्रयासों की जानकारी प्रस्तुत की। बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारीगण ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किए।


माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |