Wednesday, 22 ,May 2024
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

जिन शासन का मनाया 2580वां स्थापना दिवस | ग्रामीण अंचलों में बनी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क पर बेखोफ दौड़ रहे ओवरलोड डम्फर, जिम्मेदार नहीं कर रहे कोई कार्रवाई | वरिष्ठ नागरिक पेंशनर्स एसोसिएशन की बैठक का हुआ आयोजन | सांसद की माताजी का निधन, भाजपा में शोक की लहर | श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन भजनों पर थिरके भक्त, बही भागवत गंगा | लोकसभा चुनाव जोबट विधानसभा क्षेत्र के ग्राम आम्बुआ में शांति पूर्वक संपन्न | चौथे चरण का मतदान सम्पन्न, सैलाना विधानसभा में सबसे ज्यादा मतदान | ग्रीष्मकालीन जैन आवासीय धार्मिक संस्कार शिविर का आयोजन 14 से 19 को पेटलावद में | गुरुदेव की निश्रा में 300 वर्षीतप आराधकों ने किए पारणें | सरपंच पति के साथ 6 आरोपीयो के विरुद्ध 4 व्यक्तियों की हत्या करने का मामला हुआ दर्ज | कांग्रेस का हूं कांग्रेस का रहूंगा कहने वाले सरपंच साहब भाजपा की भेंट चढ़े, उपसरपंच ने भी थामा भाजपा का दामन | पुलिस ने शांतिपूर्ण मतदान के लिए निकाला फ्लैग मार्च | पुलिस ने निकाला फ्लेग मार्च | 13 मई को संपन्न होने जा रहे चुनाव में शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था हेतु सेना का फ्लैग मार्च | एक बार फिर विक्रांत भूरिया ने प्रेसवार्ता कर उधेड़ी प्रदेश वनमंत्री नागरसिंह व भाजपा लोकसभा प्रत्याशी अनिता चौहान की बखिया | निष्पक्ष रूप से चुनाव करवाने का दावा करने वाली प्रशासन ध्यान दें शराब दुकान पर होने वाली भीड़ पर | पहला चुनाव बनाम अंतिम चुनाव, सहानुभूति लहर या महिला सशक्तिकरण...? | देश में राजनीतिक दलों की स्थिति मतलब हमाम में सब नंगे | गुजरात मॉडल की घोषणा टाय-टाय फिस्स | राजू के असल हत्यारे आखिर कौन...? पुलिस पूरे मामले का करेगी खुलासा या फिर अधर में रखेगी मामला... |

पूर्व सरपंच को 10 करोड़ 42 लाख का जुर्माना भरने का जारी हुआ आदेश, आखिर क्या है पूरा मामला
16, Feb 2023 1 year ago

image

माही की गूंज, रतलाम।

          चोरी कब भी की हो एक न एक दिन पकड़ी ही जाती है। सरपंच बनने के बाद ग्राम विकास की जगह खुद के विकास कर करोड़ो के व्यारे न्यारे करने वाले जनप्रतिनिधि ईमानदार अधिकारीयो से बच नही सकते। ऐसा मामला रतलाम जिले के जावरा विकास खण्ड में सामने आया है। जिसमे स्वयं सरपंच ने ही सरकारी जमीन पर अवैध खनन करवा दिया। मामला जावरा की ग्राम पंचायत भैंसाना का है।‌ मगरे की शासकीय जमीन होने से यहां सरकार मुरम की खदानें लीज पर देती हैं। गांव के पूर्व सरपंच भेरूलाल पाटीदार ने शासकीय जमीन से अवैध उत्खनन किया। जिसकी शिकायत हुई तो मामला जांच में सही पाया गया।  अपर कलेक्टर के यहां प्रकरण पहुंचने पर 16 जून 2022 को जुर्माने का आदेश भी हुआ, लेकिन जमा नहीं किया। अब 17 फरवरी को जुर्माना राशि जमा करने का नोटिस जारी हुआ है। जुर्माना भी प्रशासन ने ऐसा भारीभरकम लगाया जो सरपंच का सिरदर्द बना है । प्रशासन ने 10 करोड़ 42 लाख का जुर्माना भरने के आदेश दिए हैं और शुक्रवार को जुर्माना भरने की अंतिम तिथि हैं। ऐसे में सरपंच अपनी सभी संपत्ति बेच दे तो भी चुकता नहीं कर सकता है।

मुरम का अवैध खनन किया

        जावरा तहसीलदार न्यायालय द्वारा जारी आदेश में बताया है कि, सरपंच भेरुलाल पाटीदार द्वारा भैसाना की शासकीय सर्वे नंबर 70 व 625 पर मुरम का अवैध खनन किया। इसके लिए अपर कलेक्टर खनिज शाखा द्वारा 10 करोड़ 42 लाख 50 हजार का जुर्माना किया है। यह जुर्माना 17 फरवरी को तहसीलदार न्यायालय में उपस्थित होकर जमा करवाएं। पूर्व सरपंच भेरूलाल पाटीदार ने बताया कि शासकीय कार्य में उपयोग के लिए खनन हुआ था, जो ग्राम पंचायत ने किया था। केवल मुझे टारगेट किया। मुझे इस नोटिस की जानकारी नहीं हैं। राजनीतिक द्वेषता से कार्रवाई की  गयी है। जावरा एसडीएम हिमांशु प्रजापति का कहना है कि मामले में जांच हुई थी। न्यायालय में प्रकरण चलने के बाद आदेश पारित हुआ है।



माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |