Thursday, 20 ,June 2024
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

अंचल के चंदन का नया सीरियल शुरू | रातभर चला पुलिस का नाईट कॉम्बिंग ऑपरेशन | जिले में हो रहे अवैध शराब परिवहन को लेकर चूडी और साडी कांग्रेस विधायक नेता प्रतिपक्ष के साथ विधानसभा में सीएम को करेंगी भेंट | जिले मे शराब माफियाओ के आगे बेबस हूई पूलिस, अधिकारीयो के संरक्षण मे होता बेखौफ अवैध शराब का परिवहन | गंगा दशमी के पूर्व सियाराम आश्रम पर संतो का भंडारा | जल गंगा संवर्धन अभियान के तहत बावड़ी की सफाई प्रारंभ | पूज्य पुंज पुण्यशीलाजी महासतियों का नगर में मंगल प्रवेश | पर्यावरण संवर्धन के उद्देश्य से दाऊदी बोहरा कब्रिस्तान में किया पौधारोपण | लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा की विधानसभा समीक्षा बैठक संपन्न | अलग-अलग हुई दुर्घटना में एक की मृत्यु दो जख्मी | आम्बुआ-जोबट तिराहे मार्ग पर बेतरतीब खड़े रहते हैं वाहन | सामने से आ रहे वाहन को बचाने में कोल्ड्रिंक से भरा वाहन पलटा, दुलाखेड़ी-पेटलावद की बीच हुआ हादसा | धमकी देकर अवैध वसुली करने वाले आरोपी को हथियार सहित पुलिस ने 48 घंटे मे किया गिरफ़्तार | मुख्यमंत्री डॉ. यादव मां शिप्रा को चुनरी करेंगे अर्पित | जल गंगा संवर्धन अभियान के अंर्तगत सहभागिता से श्रमदान | भोला भण्डारा परिवार ने कथा वाचक कान्हा कौशिकजी का किया स्वागत | पापा स्कॉर्पियो दिला दो… नहीं मिली तो खाया जहर, इकलौते बेटे की गई जान | हम फाउंडेशन भारत की मातृ शक्ति ने किया पौधरोपण | 60 लीटर अवैध शराब के साथ एक आरोपी गिरफ्तार | प्रतिभावान बच्चों को भगवत गीता और पौधे देकर दिया पर्यावरण संरक्षण और संस्कृति से जुड़ने का संदेश |

छोटे किसानों को देखते हुए अतिक्रमण अर्थदंड वसूली राशि कम की जाए
18, Feb 2021 3 years ago

image

माही की गूंज, अलीराजपुर

     आदिवासी समाज और बिरसा ब्रिगेड जिला अलीराजपुर ने कलेक्टर से निवेदन कर पत्र में बताया कि, अलीराजपुर आदिवासी बाहुल्य जिला है और यहां ज्यादातर किसान गरीबी के चलते गुजरात, महाराष्ट्र पलायन कर जाते है जिले में राजस्व की शासकीय भूमियों पर छोटे किसानों के अतिक्रमण है जहाँ वो एक फसल रबी की ही ले पाते है ।पिछले साल से देखा गया है कि, राजस्व विभाग द्वारा शासकीय भूमि पर अतिक्रमण के अर्थदंड राशि 1500, 2 हजार से लेकर 5 हजार से 7 हजार तक जिलेभर में वसूली गयी। जिसे भरने के लिए किसान अपने साहूकार के पास जाता है और फिर कर्जा लेकर पैसा अर्थदंड के रुपए भरता है। वर्तमान में अतिक्रमण अर्थदंड वसुली का कार्य जारी है और पिछली बार की तरह ही वसूली की जा रही है। हम आदिवासी समाज व बिरसा ब्रिगेड मांग करते है कि, जिले के किसानों को देखते हुए अर्थदंड राशी शासक भूमि अनुसार 500 ओर अधिकतम 1 हजार रुपए तक करने और वसूलने के निर्देश दे, जिससे किसानों को किसी के सामने हाथ फैलाना ना पड़े व मानसिक रूप से परेशानियों का सामना ना करना पड़े। इस संबंध में प्रतिलिपि मध्यप्रदेश पटवारी संघ के जिलाध्यक्ष नितेश अलावा को भी दी गई है।इस अवसर पर उपस्थित बिरसा ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष सुरेश सेमलिया, सालम सोलंकी, संजय भूरिया, अभिषेक बारेला, बबलू डावर, अरविन्द सोलंकी आदि मौजूद थे।



माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |