Thursday, 20 ,June 2024
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

अंचल के चंदन का नया सीरियल शुरू | रातभर चला पुलिस का नाईट कॉम्बिंग ऑपरेशन | जिले में हो रहे अवैध शराब परिवहन को लेकर चूडी और साडी कांग्रेस विधायक नेता प्रतिपक्ष के साथ विधानसभा में सीएम को करेंगी भेंट | जिले मे शराब माफियाओ के आगे बेबस हूई पूलिस, अधिकारीयो के संरक्षण मे होता बेखौफ अवैध शराब का परिवहन | गंगा दशमी के पूर्व सियाराम आश्रम पर संतो का भंडारा | जल गंगा संवर्धन अभियान के तहत बावड़ी की सफाई प्रारंभ | पूज्य पुंज पुण्यशीलाजी महासतियों का नगर में मंगल प्रवेश | पर्यावरण संवर्धन के उद्देश्य से दाऊदी बोहरा कब्रिस्तान में किया पौधारोपण | लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा की विधानसभा समीक्षा बैठक संपन्न | अलग-अलग हुई दुर्घटना में एक की मृत्यु दो जख्मी | आम्बुआ-जोबट तिराहे मार्ग पर बेतरतीब खड़े रहते हैं वाहन | सामने से आ रहे वाहन को बचाने में कोल्ड्रिंक से भरा वाहन पलटा, दुलाखेड़ी-पेटलावद की बीच हुआ हादसा | धमकी देकर अवैध वसुली करने वाले आरोपी को हथियार सहित पुलिस ने 48 घंटे मे किया गिरफ़्तार | मुख्यमंत्री डॉ. यादव मां शिप्रा को चुनरी करेंगे अर्पित | जल गंगा संवर्धन अभियान के अंर्तगत सहभागिता से श्रमदान | भोला भण्डारा परिवार ने कथा वाचक कान्हा कौशिकजी का किया स्वागत | पापा स्कॉर्पियो दिला दो… नहीं मिली तो खाया जहर, इकलौते बेटे की गई जान | हम फाउंडेशन भारत की मातृ शक्ति ने किया पौधरोपण | 60 लीटर अवैध शराब के साथ एक आरोपी गिरफ्तार | प्रतिभावान बच्चों को भगवत गीता और पौधे देकर दिया पर्यावरण संरक्षण और संस्कृति से जुड़ने का संदेश |

देवीय प्रकोप से रक्षा के लिए व्रत
26, Apr 2020 4 years ago

image

माही की गूंज खवासा।

       विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 के चलते दुनियाभर के वैज्ञानिक इसके इलाज हेतु टीका, वैक्सीन आदि की खोज में जुटे हैं और तमाम तरह की सावधानियों के साथ ही सामाजिक दूरी ही इसके बचाव का एकमात्र उपाय बतला रहे हैं। इसीलिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन की घोषणा में तनिक भी देरी नहीं की यही नहीं 21 दिन के बाद भी इसे 3 मई तक आगे बढ़ा दिया।


           लेकिन भारत एक धार्मिक विविधताओं का देश है, यहां पर अलग-अलग मान्यताओं के लोग है, पूरा विश्व इस वायरस को महामारी मान रहा है। वही खवासा के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में इसे देवीय प्रकोप माना जा रहा है, उनका मानना है कि कुलदेवी मां, शीतल माता कुछ कारणों से हमसे रूठ गई है और उनके प्रकोप का सामना देशवासी कर रहे हैं। देवीय प्रकोप का सामना उनके गांव के लोगों को न करना पड़े और यह बीमारी उनके गांव तक ना पहुंचे, इसके लिए गांव की महिलाएं व्रत कर 5 दिन के उपवास कर रही है। शीतला माता को जल चढ़ा रही है और 5 दिन के उपवास के पश्चात कुलदेवी माताजी की पूजा अर्चना कर माताजी के पुरे श्रंगार का सामान, नारियल, अगरबत्ती के साथ अनाज व दलहन को बाफ जिसे आदिवासी भाषा में बाकला कहा जाता है चढ़ाकर अपने व अपने परिवार के साथ गांव व क्षेत्र की रक्षा की कामना कर रही है। यही नहीं लॉकडाउन के चलते व्रत करने वाली महिलाए बाजारों में पैदल चलकर पहुंच रही है और यहां उन्हें महंगे दामों पर पूजन सामग्री व नारियल मिल रहे हैं। बावजूद इसके आस्था अटूट है, वे महंगी पुजा सामग्री भी खरीद कर माताजी को प्रसन्न करने का प्रयास कर रही है और शायद यही आस्था ही हमें मजबूत बनाती है और कोरोना जैसी महामारी से लड़ने के लिए शासन के दिशा निर्देशों के अतिरिक्त मजबूत इच्छाशक्ति की भी आवश्यकता है और हमारी यही आस्था हमें मजबूती के साथ दृढ इच्छाशक्ति भी प्रदान करती है।


माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |