Thursday, 20 ,June 2024
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

अंचल के चंदन का नया सीरियल शुरू | रातभर चला पुलिस का नाईट कॉम्बिंग ऑपरेशन | जिले में हो रहे अवैध शराब परिवहन को लेकर चूडी और साडी कांग्रेस विधायक नेता प्रतिपक्ष के साथ विधानसभा में सीएम को करेंगी भेंट | जिले मे शराब माफियाओ के आगे बेबस हूई पूलिस, अधिकारीयो के संरक्षण मे होता बेखौफ अवैध शराब का परिवहन | गंगा दशमी के पूर्व सियाराम आश्रम पर संतो का भंडारा | जल गंगा संवर्धन अभियान के तहत बावड़ी की सफाई प्रारंभ | पूज्य पुंज पुण्यशीलाजी महासतियों का नगर में मंगल प्रवेश | पर्यावरण संवर्धन के उद्देश्य से दाऊदी बोहरा कब्रिस्तान में किया पौधारोपण | लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा की विधानसभा समीक्षा बैठक संपन्न | अलग-अलग हुई दुर्घटना में एक की मृत्यु दो जख्मी | आम्बुआ-जोबट तिराहे मार्ग पर बेतरतीब खड़े रहते हैं वाहन | सामने से आ रहे वाहन को बचाने में कोल्ड्रिंक से भरा वाहन पलटा, दुलाखेड़ी-पेटलावद की बीच हुआ हादसा | धमकी देकर अवैध वसुली करने वाले आरोपी को हथियार सहित पुलिस ने 48 घंटे मे किया गिरफ़्तार | मुख्यमंत्री डॉ. यादव मां शिप्रा को चुनरी करेंगे अर्पित | जल गंगा संवर्धन अभियान के अंर्तगत सहभागिता से श्रमदान | भोला भण्डारा परिवार ने कथा वाचक कान्हा कौशिकजी का किया स्वागत | पापा स्कॉर्पियो दिला दो… नहीं मिली तो खाया जहर, इकलौते बेटे की गई जान | हम फाउंडेशन भारत की मातृ शक्ति ने किया पौधरोपण | 60 लीटर अवैध शराब के साथ एक आरोपी गिरफ्तार | प्रतिभावान बच्चों को भगवत गीता और पौधे देकर दिया पर्यावरण संरक्षण और संस्कृति से जुड़ने का संदेश |

तेंदुए ने किया बकरी का शिकार
01, Dec 2023 6 months ago

image

माही की गूंज, अमझेरा।

         गुरूवार की शाम को तेंदुए ने बकरी का शिकार कर उसे मार दिया। नगर के थाना पीछे मोहल्ले में रहने वाले सुभाष पुत्र राधु बख्तावर जलाशय के आस-पास अपनी बकरीयॉ चरा रहा था तभी तेंदुए ने मौका देखकर बकरी पर हमला कर दिया। हांलाकी सुभाष व उसके अन्य साथीदार काहरू पुत्र केकु व रालू पुत्र केकु ने शोर मचाकर किसी तरह से बकरी को छुड़ा लिया लेकिन बकरी को बचाया नहीं जा सका। सुचना मिलने पर शुक्रवार को वन विभाग अमझेरा वन परिक्षेत्र सहायक दयाराम वर्मा, बीड गार्ड निर्मल डावर चौकीदार रमेश मौके पर पहुंचे तथा ग्रामीणों की उपस्थिति में मौका पंचनामा बनाया। जिसमें पदचिन्ह के आधार पर बताया गया कि बकरी का शिकार तेंदुए के द्वारा ही किया गया। परिक्षेत्र सहायक दयाराम वर्मा के द्वारा ग्रामीणों को बताया गया कि, वे जंगलो में ज्यादा अंदर तक बकरीयों का चराने के लिए नही जाए एवं उन्हे सावधानी बरतने की बात कही गई। उल्लेखनिय है कि, बिते वर्षो में अमझेरा से सटे जंगलों में तेंदुए के द्वारा पशुओं के साथ ही मनुष्यों पर भी जानलेवा हमले किए गए है।


माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |