Monday, 16 ,May 2022
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

प्रोफेसर व उनके परिवार को मिली जान से मारने की धमकी | पहले जिलेवासियो को समस्याओं से निज़ात दिलाकर मुलभुत सुविधाएं उपलब्ध कराए, फिर मनाए गौरव दिवस मनाए- पूर्व जिलाध्यक्ष पटेल | गामड़ी पंचायत के रोजगार सहायक पर लाखों के भ्रष्टाचार का लगाया ग्रामीणों ने आरोप | भायजुमो मंडल के नवीन पदाधिकारी और सदस्यों का जिला कार्यालय पर किया स्वागत | मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा और महापूर्णाहूति के साथ हुआ विशाल भंडारे का आयोजन | सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बैकफुट पर सरकार | स्वास्थ्य विभाग की महिला कर्मचारी के जीपीएफ खाते से ढाई लाख निकाले | भगवान की स्थापना के बाद होगा भंडारे का आयोजन | ट्राले की भिडंत में युवक की मौत | बढ़ते पारे में चोरों का कहर... चोरो ने दिनदहाड़े ताले चटकाए | क्षेत्र में हिंदुत्व को जाग्रत करने वाले स्व. रुस्तम चरपोटा की प्रतिमा होगी स्थापित | माही धाम पर तीन दिवसीय श्रीराम मारुति यज्ञ और प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन सम्पन्न | फर्जी अंकसूची लगा कर हासिल कर ली नौकरी, महिला अभ्यर्थी ने दर्ज करवाई शिकायत | लक्ष्मी उत्सव मनाने के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ ने पंचायत भवन खोलने के लिए कहा तो रोजगार सहायक ने की गाली गलौच | धारा 144 के लागू होते हुए निकली रैली, 6 नामजद सहित अन्य पर मामला दर्ज | कॉलेज चलो अभियान अंतर्गत विद्यार्थियों को दी नई शिक्षा नीति की जानकारी | ओबीसी आरक्षण के बिना होंगे पंचायत चुनाव- सुप्रीम कोर्ट | ब्रदर प्रेम मुनिया का पावन पुरोहित अभिषेक सम्पन्न | हर्षोल्लास के साथ मनाया मां मरियम का पर्व | स्व. गौर सिंह वसुनिया की प्रथम पुण्यतथि पर किया फल वितरण |

गिरोह सक्रिय: एक के बाद एक थाना क्षेत्र में गैंग सक्रिय होकर चोरी घटना को दे रहे अंजाम
Report By: राघवेंद्र सिंह डोडिया 13, Aug 2021 9 months ago

image

पुलिस को नही मिलते चोर, वाहन मालिक एजेंट के माध्यम से वापस लाते है वाहन, सब कुछ जानकर अनजान बनी पुलिस 

माही की गूंज, रतलाम/जावरा। 

    जिले में शहर से लेकर गाँव तक में इन दिनों चोरों का गिरोह सक्रिय है। जबकि मुस्तैदी का दावा करने वाली पुलिस इन चोरों के गिरोह को पकड़ नहीं पा रही है। ताबड़तोड़ चोरी की इन घटनाओं से लोगों को अब डर सताने लगा है। लगातार हो रही घटना पुलिस की सक्रियता व रात के गस्त के बाद भी चोरी की घटनाओं पर अंकुश नही लग पा रहा है। आखिर चोर घटनाओं को आसानी से अंजाम देकर चोरों का गिरोह कैसे साफ बच निकल जाता है? चोरों का यह गिरोह इतना चालाक व शातिर है कि, घटनास्थल के आस -पास लगे रहने वाले सीसीटीवी कैमरों की रेंज में ही नहीं आता है।

    दरसल, गुरुवार रात मावता निवासी प्रकाश पाटीदार की पिकप एमपी 44 जीए 0586 घर के सामने से चोरी हो गई। वाहन मालिक ने बताया कि, वह अपने घर के सामने वाहन खड़ा कर घर के अंदर सोए थे, सुबह जब उठे तो पिकप वहां नही थी। तलाश करने के बाद नही मिली तो मावता चौकी में शिकायत दर्ज कराई। 

दो दिन पूर्व पिपलोदा से ट्राला भी हो चूका है चोरी

    पिपलौदा से मंगलवार को बारह चक्कों वाले बडे ट्राले की सनसनीखेज चोरी हो गई थी। हालांकि पुलिस ने 12 घण्टों में ट्राले को ज़ब्त कर साथ ही पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल कि थी। ट्राले को चुराकर चोर उसे राजस्थान ले गए थे। लेकिन ट्राले में लगे जीपीएस की मदद से ट्राले सहित चोर चौमेला में ही पकड़ लिए गए। 

    वहीं कुछ दिन पूर्व कालूखेड़ा से एक और एक मावता से मोटरसाइकिल चोरी हो गई थी। हालांकि कालूखेड़ा से जो मोटरसाइकिल चोरी हुई थी उसे कोई फ़िर से रख के चला गया, जबकि एक बाइक का अभी तक नही मिली। 

पुलिस ने शांति समीक्षा बैठक में लोगों को सतर्क रहने को कहा था

    कुछ दिन पूर्व मावता मे हुई शांति समीक्षा बैठक में पुलिस ने लोगों से कहा था कि, अपने घरों और वाहनों का ध्यान रखें व वाहनों को सुरक्षित स्थानों पर खड़ा करे। उसके बाद भी लोग लाहपरवाही बरतते हुए अपने वाहन कही भी छोड़ देते, जिससे चोर आसानी से चोरी की वारदाद को अंजाम दे देते है। 

    विश्वनीय सूत्रों की माने तो राजस्थान के कुछ गिरोह सक्रिय है, जो रतलाम-मंदसौर जिले में लगातार चोरी की वारदात को अंजाम दे रहें है। यह चोर इतने शातिर होते है कि, चोरी की बड़ी-बड़ी वारदात को ऐसे अंजाम देते है कि, लोगों को पता भी नही लगता, बाद में चोर दो पहिया, चार पहिया वाहन अपने क्षेत्र मैं ले जाके रख देते है। 

एजेंट के माध्यम से चोरी हुआ वाहन फिर मिल जाता है

    यह लोग वाहन चोरी कर ले जाते है फिर इनके एजेंट ही अपने को सम्पर्क करते है कि, आपका वाहन में दिला तो दूंगा, लेक़िन उस व्यक्ति ने किसी को बेच दिया है अब उससे खरीद के आप को लेना पड़ेगा। उसके बाद डील फिक्स होती है उसमे एजेंट का भी कमीशन होता है और अपना वाहन खुद को ही वाहन की वेल्यूवेसन देख कर पैसे लेते है।

    यह गिरोह इतना निडर बन गया कि, बड़ी से बड़ी वारदाद को दिन में अंजाम दे देते है,  इनको पुलिस का भी ख़ौफ़ नही रहता है। इन गिरोह के बारे में पुलिस को भी पता रहता है लेक़िन पुलिस के हाथ यह चोर आसानी से पकड़ में नही आते है।

गिरोह की मदद गाँव का एक व्यकि भी करता है

    इन गिरोह को गाँव का व्यकि भी गाइड करता है वह पूरी जानकारी देता है कि, कहा वाहन खड़ा है, कहा से रास्ता है और किस रास्ते से ले जाना है। किसी भी वारदाद को अंजाम देने से पहले यह रेकी करते है उसके बाद बडी से बड़ी चोरी की वारदातों को अंजाम देते है, वह व्यकि इन्हीं के लिए काम करता है। मावता चौकी प्रभारी ने बताया कि, सुबह पिकप चोरी का आवेदन आया, छानबीन कर रहे जल्द ही चोर गिरफ्त में होंगे। 


माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |