Wednesday, 22 ,May 2024
RNI No. MPHIN/2018/76422
: mahikigunj@gmail.com
Contact Info

HeadLines

जिन शासन का मनाया 2580वां स्थापना दिवस | ग्रामीण अंचलों में बनी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क पर बेखोफ दौड़ रहे ओवरलोड डम्फर, जिम्मेदार नहीं कर रहे कोई कार्रवाई | वरिष्ठ नागरिक पेंशनर्स एसोसिएशन की बैठक का हुआ आयोजन | सांसद की माताजी का निधन, भाजपा में शोक की लहर | श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन भजनों पर थिरके भक्त, बही भागवत गंगा | लोकसभा चुनाव जोबट विधानसभा क्षेत्र के ग्राम आम्बुआ में शांति पूर्वक संपन्न | चौथे चरण का मतदान सम्पन्न, सैलाना विधानसभा में सबसे ज्यादा मतदान | ग्रीष्मकालीन जैन आवासीय धार्मिक संस्कार शिविर का आयोजन 14 से 19 को पेटलावद में | गुरुदेव की निश्रा में 300 वर्षीतप आराधकों ने किए पारणें | सरपंच पति के साथ 6 आरोपीयो के विरुद्ध 4 व्यक्तियों की हत्या करने का मामला हुआ दर्ज | कांग्रेस का हूं कांग्रेस का रहूंगा कहने वाले सरपंच साहब भाजपा की भेंट चढ़े, उपसरपंच ने भी थामा भाजपा का दामन | पुलिस ने शांतिपूर्ण मतदान के लिए निकाला फ्लैग मार्च | पुलिस ने निकाला फ्लेग मार्च | 13 मई को संपन्न होने जा रहे चुनाव में शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था हेतु सेना का फ्लैग मार्च | एक बार फिर विक्रांत भूरिया ने प्रेसवार्ता कर उधेड़ी प्रदेश वनमंत्री नागरसिंह व भाजपा लोकसभा प्रत्याशी अनिता चौहान की बखिया | निष्पक्ष रूप से चुनाव करवाने का दावा करने वाली प्रशासन ध्यान दें शराब दुकान पर होने वाली भीड़ पर | पहला चुनाव बनाम अंतिम चुनाव, सहानुभूति लहर या महिला सशक्तिकरण...? | देश में राजनीतिक दलों की स्थिति मतलब हमाम में सब नंगे | गुजरात मॉडल की घोषणा टाय-टाय फिस्स | राजू के असल हत्यारे आखिर कौन...? पुलिस पूरे मामले का करेगी खुलासा या फिर अधर में रखेगी मामला... |

थांदला माटी के संत 108 श्रीपुण्यसागरजी महाराज 19 वर्षों बाद करेंगें थांदला में मंगल प्रवेश, संघजनों में अपार उत्साह
12, Apr 2024 1 month ago

image

19 पीछी संतों के साथ धर्म धरा पर एक साथ थांदला माटी के 5 रत्नों का होगा आगमन

माही की गूंज, थांदला। 

         पुण्य धरा थांदला के वीर माता-पिता गुणवंती बहन व पन्नालाल मेहता की कुक्षी से जन्में महान संत 108 आचार्य वर्धमानसागरजी महाराज के प्रभावी शिष्य वात्सल्यमूर्ति 108 श्रीपुण्यसागरजी महाराज का मंगल पदार्पण 19 वर्षों के लंबे अंतराल के बाद इसी माह अप्रैल के अंत में होने के संकेत मिलते ही थांदला दिगम्बर समाज सहित अन्य समाज में भी अपार उत्साह देखने को मिल रहा है। पूज्यश्री के साथ में उनके शिष्य व भाई मुनि तपस्वी सम्राट 108 श्रीमहोत्सवसागरजी महाराज एवं एवं 108 उपहारसागरजी महाराज तथा थांदला माटी के दो अन्य रत्न क्षुल्लक पूर्णसागरजी एवं आर्यिका माताजी 105 उपसममति माताजी सहित 19 पीछी संतों का आगमन हो रहा है। जानकारी देते हुए संघ अध्यक्ष अरुण बाला कोठारी, प्रवक्ता संजय कोठारी व महावीर मेहता ने बताया कि, यह पहला अवसर है जब डूंगर मालवा के थांदला अंचल में एक साथ इतने संतों का आगमन हो रहा है। थांदला से संसार त्याग कर आत्म साधना करते हुए पूज्यश्री के सानिध्य में वर्ष 2005 में दहशरा मैदान में पंचकल्याणक महोत्सव के बाद आपने भारत के मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, शीखरणी, बुन्देलखण्ड, झारखंड, सोनागोरी आदि अनेक राज्यों में पैदल यात्रा करते हुए धर्म का प्रचार किया। इस दौरान आपके द्वारा करीब 80 संतों आत्माओं को समाधि भी दी गई जो किसी भी संत के लिए उसकी साधना का उत्कर्ष फल है। उल्लेखनीय है कि पूज्यश्री सहित समस्त संत संघ का मध्यप्रदेश के भोपाल के आसपास विहार चल रहा है, आपके साथ विहार चर्या में संघ संचालिका वीणा दीदी (घाटोल) एवं विकास भैया (थांदला) भी पैदल चल रहे है।



माही की गूंज समाचार पत्र एवं न्यूज़ पोर्टल की एजेंसी, समाचार व विज्ञापन के लिए संपर्क करे... मो. 9589882798 |